समाजसेवी और एन आर आई ने किया पत्रकारों के सहयोग से राहत सामग्री का वितरण

समाजसेवी और एन आर आई ने किया पत्रकारों के सहयोग से राहत सामग्री का वितरण

राष्ट्रदर्शन बिहार डेस्क:-

 


आनन्द प्रकाश राष्ट्र दर्शन न्यूज़ डेस्क

गुठनी(सिवान) / गुठनी के यूपी बिहार सिमा स्थित श्रीकर पुर चेकपोस्ट पर बुधवार को समाजसेवी शांतानंद मिश्रा (एनआरआई)के प्रयास से सोनल दुबे,पुरुषोत्तम दुबे, तथा हरेंद्र तिवारीऔर राजेश तिवारी के उपस्थिती में जी मीडिया के पत्रकार सह नेशनल यूनियन ऑफ जर्नलिष्ट के जिला महासचिव आकाश श्रीवास्तव के नेतृत्व में पत्रकारों ने अन्यप्रदेशों से पैदल और बसों से आ रहे प्रवासी मजदूरों के बीच केक, बिस्कुट और बोतल बंद पानी का वितरण करते हुए उनकी हाल चाल जानी।

कोरोना वायरस के संक्रमण के फैलाव से बचाव को लेकर पूरे देश में चौथे चरण मे लॉकडॉउन लागू है ऐसे में सबसे बड़ी विपदा उन मजदूरों के बीच है जो दिल्ली मुंबई समेत देश व राज्य के विभिन्न शहरों से आ रहे हैं अपने घर। जो भूख से लाचार हैं क्यों कि खाने के लिए पैसे नहीं कुछ के पास है भी तो होटल नहीं खुले खाएं तो खाएं क्या ।कुछ सरकारी तंत्रो द्वारा चलाए जा रहे राहत केन्द्रों तक पहुँच रहे और उनकी मदद से बसों तथा ट्रेनों से भेजे भी जा रहे पर बहुतों की पहुँच इनसे दूर हैं और वो गरीब श्रमिक, बच्चे, वृद्ध और औरतें हिम्मत बाँधे मदद की टकटकी लगाये भूख को कोंख मे दबाए, चिलचिलाती धूप में तपती सड़क पर पैरों को भूनते, आमदनी पर कहर और पेट की लहर को सहन न कर हिम्मत बाँधकर निकल पड़े हैं पैदल ही अपने-अपने घर के तरफ।ऐसे में शाशन- प्रसाशन के अलावे इनके मदद के लिए समाज सेवी और निजी संस्थाएं भी आगे आ रहीं हैं और मानवता की परिचायक बन रही हैं ।इसी कड़ी मे गुठनी के यूपी बिहार सिमा स्थित श्रीकर पुर चेकपोस्ट पर समाजसेवी शांतानंद मिश्रा (एनआरआई)के सौजन्य और मीडिया कर्मियों के सहयोग से सीमा के अन्दर आ रहे प्रवासियों को पैकेट बन्द खाद्य सामग्री, केक बिस्किट और पानी की बन्द बोतलें देकर उनके स्वस्थ्य जीवन और मंगलमय यात्रा की कामना की गई।

पत्रकारों से रूबरू होते हुए आगन्तुकों ने अपनी दुखद यात्रा वृतांत सुनाकर सरकारी तंत्रो से मदद की गुहार लगाई कईयों ने तो बिहार मे कल कारखाने लगाकर बिहार को आत्मनिर्भरता की ओर ले जाने और मजदूरों के पलायन को रोकने की भी बात कह डाली क्यों कि एसी दुर्गति अब और आगे नहीं देखना चाहते । सभी परेशान हैं इस कोरोना त्रासदी से , और जो परेशान हैं उनको सिकायत भी है । हालांकि सरकारों का दावा है कि सबके लिए समुचित व्यवस्था मुहैया कराई जा रही है प्रसाशन अलर्ट है कि मजदूरों को परेशानी ना हो बस ट्रक और ट्रेनों मे मजदूर आ रहे हैं पर ऐसे मजबूर मजदूर जो इन सुविधाओं तक या तो वे नहीं पहुँच पा रहे या सुविधाऐं उनतक नहीं पहुँच पा रही और बेहाल है घर जाने को क्योंकि ना नौकरी का इन्तजाम है ना भूख का विकल्प ना कोई साधन ना संसाधन लॉकडाउन के बाद लाखों मजदूर विभिन्न शहरों से सैकड़ों किलोमीटर की दूरी पैदल चल कर अपने घर लौट रहे हैं। यूपी बिहार के बार्डर मेहरौना श्रीकरपुर चेकपोस्ट पर ऐसे सैकड़ों मजदूरों को अपने घर लौटते देखा जा सकता है जहाँ समाज सेवी सांतानन्द मिश्रा के प्रयास से चलाई जा रही एसी व्यवस्था एक सराहनीय पहल है ।

मौके पर वरिष्ठ पत्रकार शिवेश्वर महादेव भारती, कृष्णमोहन शर्मा, मृत्युंजय कुमार, सचिन राज,संदीप सिंह, सतीस तिवारी,प्रेम सागर शर्मा, डा शम्भू यादव, विक्रांत कुमार ठाकुर, आशीष कुमार और आनंद प्रकाश के अलावे प्रखण्ड प्रमुख कामोद नारायण सिंह और बीडीओ धीरज कुमार दुबे उपस्थित थे।

Website Design By Mytesta +91 8809666000

Check Also

पृथ्वी दिवस के अवसर पर भाजपा नेता ने किया वृक्षारोपण

🔊 Listen to this पृथ्वी दिवस के अवसर पर भाजपा नेता ने किया वृक्षारोपण   …